मां का खत बेटे के नाम- तुम्हें बड़ा होते देखना सुकून भरा है

(Priyanka Om Letter to her Son ) आजकल हिंदी फ़िल्म में फ़िल्मायें गये रूमानी दृश्य को…

ये चिट्ठी तुम्हारे लिए- पता तुमने दिया नहीं

प्रिय, चार शब्दों में सिमट चुकी जिंदगी में चिट्ठी, रही कहां? अब तो मैसेंजर और व्हॉट्सअप…

‘तुमने कई बार मेरा दिल तोड़ा, दर्द के लिए मैं तुम्हारी शुक्रगुजार हूं’

प्रिय दिल्ली, तुम्हारे साथ चार साल होने जा रहे हैं। वक्त कब गुजरा पता ही नहीं…

एक पत्र दिवंगत माता- पिता के नाम

ज्ञान सबसे बड़ा उपहार है, व्यक्ति वस्तुओं से अधिक मूल्यवान है, अगर मन में प्रश्न है,…

हाला तुम्हारे प्याले में जीवन का गीत गा रही होगी, नदी किनारे भूतों का तांडव चल रहा होगा

प्यारे बदले-बदले महेश दा :आशा है, तुम जंगलों में सुस्ता रहे होगे. घुप्प अंधेरी रात में…

तुम मेरे आत्मा के स्वाभिमान को कैसे जिन्दा करोगे?

अगर हमारे स्वाभिमान को ठेस पहुंचती है तो उसके द्वारा मिले जख्मों पर मरहम लगाया जा…

सखी! तुम्हारे ये शब्द मेरे कानों में हथौड़े की तरह बजे

प्यारी सखी पहले तो माफ़ी क्योँकि ये दोस्ती के उसूलों के खिलाफ है कि दो दोस्तों…

ख़त मतलब भावनाओं को कुरेद-कुरेद कर लिखना, पढ़-पढ़ कर फिदा होना

प्रिय ललित आप कबसे कहते आ रहे हैं कि ख़त लिखिए, ख़त लिखिए, किसी को भी…

मेरी बच्ची: तुम्हारी तरफ आती हर दया- अफ़सोस भरी नज़र को पहले मुझसे टकराना होगा

प्यारी आद्या ! नए साल के इस पहले खत के साथ तुम्हें बेशुमार प्यार. ये खत…

एक पत्र कवि की स्मृति को….!

गुरुवर प्रणाम ! आज आखिर यह क्यों? अब जबकि आप नहीं हैं.. आपकी स्मृति को यह…