साहित्यकार महाबीर रवांल्टा की पुस्तक ‘एक प्रेम कथा का अंत’ का लोकार्पण

रिपोर्ट- शशि मोहन

23 जून को यमुना वैली पब्लिक स्कूल, नौगांव में चर्चित साहित्यकार महाबीर रवांल्टा की पुस्तक ‘एक प्रेम कथा का अंत’ का लोकार्पण हुआ। इस अवसर पर रवांई—जौनपुर एवं जौनसार—बावर के कई गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

कार्यक्रम में गढ़वाल केंद्रीय विश्व विद्यालय के कला निष्पादन केंद्र के एसोसिएट प्रोफेसर डा. अजीत पंवार, जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान बड़कोट (उत्तरकाशी) के प्राचार्य श्री विनोद प्रसाद सिमल्टी, राईका बड़कोट में जीवन विज्ञान के प्रवक्ता डॉ. मनमोहन सिंह रावत, पाञ्चजंय के आर्ट डायरेक्टर एवं रवांई लोक महोत्सव के अगुवा शशिमोहन रवांल्टा मौजूद रहे।


पुस्तक पर चर्चा के लिए कार्यक्रम में वयोवृद्ध कवि श्री खिलानंद बिजल्वाण , युवा कवि दिनेश रावत, ब्लाक प्रमुख श्रीमती रचना बहुगुणा एवं श्री सुखदेव रावत की भी गरिमामयी उपस्थिति रही। एक दिवसीय संगोष्ठी में पुस्तक के लोकार्पण के अलावा, ‘रवांई: एक चिंतन’ विषय पर भी चर्चा हुई। जिसमें रवांई क्षेत्र की कला, संस्कृति, साहित्य, संस्कार एवं सरोकारों को लेकर विमर्श किया गया। रवांई लोक महोत्सव को व्यापक फलक देने तथा अधिक उपयोगी व सफल बनाने के लिए सभी सुधीजनों ने अपने-अपने विचार रखे।

सत्र का सफल संचालन दिनेश रावत द्वारा किया गया। कार्यक्रम में उपस्थिति अतिथियों के लिए विशेष प्रकार से रवांई के व्यंजनों की व्यवस्था की गई, जिसकी सभी आगंतुकों भूरी—भूरी प्रशंसा की। रवांई के पकवानों में— रवांई के सीड़े, ​डीढ़के, बड़ील, देसी घी, रामा सिराईं के लाल चावल का भात, खूमानी से बना मांडू आदि सभी के द्वारा बहुत पसंद किया गया, इसे देवलसारी गांव की महिला समूह के द्वारा विशेष रूप से बनाया गया। जिसमें महिला समूह की प्रमुख लता नौटियाल की पूरी टीम ने रवांई की पोशाक में सभी अ​​तिथियों को रवांई के व्यंजनों को परोसा।


आयोजक टीम रवांई लोक महोत्सव व्यवस्थाओं को चाक-चौबंद बनाये रखने तथा आतिथ्य सत्कार में जुटी रही जिसमें नरेश नौटियाल, असिता डोभाल, श्वेता बधानी, अमिता नौटियाल विशेष रूप से सक्रिय नज़र आये तो शशिमोहन की सादगी, शालिनता, कुशल प्रबंधन एवं व्यवहार कुशलता से शायद ही कोई हो जो प्रभावित न हुआ हो। लोकार्पण समारोह का सफल संचालन प्रेम पंचोली द्वारा किया गया। इस अवसर पर क्षेत्र के अन्य कई साहित्य, संस्कृति, कला एवं भाषा प्रेमी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *