निधि उछोली की कहानी: माया और प्रेम

जुलाई का महीना था। शाम के चार बज रहे थे। बाहर उमस थी। आसमान बादलों से…