हरिवंश राय बच्चन की 112वीं जयंती, उनकी वो कविता जिसके लिए मिला था साहित्य अकादमी

हिंदी के प्रसिद्ध लेखक और कवि हरिवंश राय बच्चन (Harivansh Rai Bachchan) की आज 112वीं जयंती…

पुराना जूता और इलाहाबाद स्टेशन- वकील के साथ मेरा किस्सा

मैं बेरोजगार था। अचानक एक दिन इलाहाबाद से फोन आया। नंबर सेव नहीं था। किसी भी…

मैं और कोई नहीं तुम्हारा ‘ख़त’ हूं

डियर, सभी ख़त लिखने वालों मैं और कोई नहीं तुम्हारा ‘ख़त’ हूं. शायद तुम खत लिखना…

धरती पर कैसे आया नृत्य बता रहे हैं ‘पारंपरिक नृत्य और सिनेमा’ किताब के लेखक



कविता: पिता के लिए टीस बन जाती है तीस की बेटी

ख्याली पुलाव- वो तुम नहीं मेरी कहानी थी

‘इश्क पहले आंखों  में उतरता है फिर दिल में बस जाता है। आंखें प्यार का कैमरा…

ड्रीम गर्ल: आर्टिफिशियल इमोशन का बाजार

भीड़ में हर आदमी अकेला है। उसका अकेला होना उसे अलग नहीं करता बल्कि उसके संबंधों…

हिंदी दिवस विशेष: अपने ही देश में हिंदी की स्थिति को देखकर दुख होता है

भावना मासीवाल जेंडर और स्त्री मुद्दों पर विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं और वेबसाइट्स के लिए लगातार लिखती हैं।…

हिंदी दिवस विशेष: हिंदी को बाजार नहीं, ज्ञान की भाषा के रूप में देखें

प्रकाश उप्रेती दिल्ली यूनिवर्सिटी में असिस्टेंट प्रोफेसर हैं। विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं और वेबसाइट्स पर समसामयिक मुद्दों पर…

ए मेरे अजीज..आपका कल संवारने के लिए मैंने अपना आज खो दिया

प्यारे दोस्त.. मैं पूरी ज़िम्मेदारी से यह ख़त आपके नाम लिख रहा हूं। लिखते हुए मेरे…