वीडियो: रेखा उप्रेती के किताब की लोकार्पण की झलकियां

‘मैं छोटा आदमी हूं’- भवानीप्रसाद मिश्र

‘स्वर्ग का अंतिम उतार’: देवप्रयाग, जहां कौवे बिल्कुल नहीं दिखाई देते, पर सभी पितरों को मुक्ति मिल जाती है

       राजीव तनेजा अमूमन सनातन धर्म को मानने वाले हर छोटे बड़े प्राणी के…

उज्ज्वल शुक्ला की कविता: प्रेम के मेनिफेस्टो का खाली कागज़

______________________________ मैं प्रेम का मेनिफेस्टो लिखने बैठता हूँ एक पतंग की डोर हाथों में आती है…

पढ़ें प्रेरणा मिश्रा की 4 कविताएं- ‘अगाध प्रेम’ से लेकर ‘आंसू’ तक

1- अगाध प्रेम काश महसूस कर सको, तुम मेरे अगाध प्रेम को, जो मैं केवल तुमसे…

यात्रा-पुस्तक ‘चले साथ पहाड़’: नदियों के प्रवाह, ऊंचे पहाड़ों से रिसने वाले झरनों और पर्वत चोटियों के दिलचस्प अनुभव

  ललित मोहन रयाल लेखक अरुण कुकसाल के सद्य प्रकाशित यात्रा-वृत्तांत ‘चले साथ पहाड़’ में लेखक…

छटंकी दीदी- पता नहीं, तुम जिंदा भी हो या नहीं! जहां भी हो, अभी भी विद्रोही होगी

अनुराधा बेनीवाल की किताब ’आजादी मेरा ब्रांड’ पढ़ते साठ साल पहले की छटंकी दीदी याद आ…

कहानी सानधुरा की जहां पीताम्बर दत्त कन्वर्ट होकर पीटर दत्ता और जगन्नाथ तिवारी जे. तेवार्सन हो गये

चाचा को जाना तो बेरीनाग था लेकिन पता नहीं क्या सूझा कि किड़ू ‘दा को साथ…

डॉक्टर रेखा उप्रेती के यात्रा संस्मरण ‘क्षितिज पर ठिठकी सॉंझ’ का लोकार्पण

दिल्ली विश्वविद्यालय के इंद्रप्रस्थ कॉलेज के हिंदी विभाग में एसोसिएट प्रोफेसर डॉक्टर रेखा उप्रेती के यात्रा…

हिंदी दिवस 2021: हिंदी को बाजार नहीं, ज्ञान की भाषा के रूप में देखें

प्रकाश उप्रेती दिल्ली यूनिवर्सिटी में असिस्टेंट प्रोफेसर और हिमांतर पत्रिका के संपादक हैं। विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं और…